शोभना सम्मान - २०१३ समारोह

मंगलवार, 14 फ़रवरी 2012

पहली कमाई (लघु कथा)


     रुण, जो कि मध्यम वर्गीय परिवार से था,दिखने में जितना साधारण उतना ही दिमागी रूप से तेज था. कॉलेज में अक्सर वह अपने रूप-रंग व कद-काठी के कारण उपहास का पात्र बनता था. वेलेन्टाइन दिवस आने वाला था और एक दिन उसके सीनियर्स  ने अरुण को घेर लिया और उसके सामने एक शर्त रखी कि वह कॉलेज की सबसे खूबसूरत लड़की (जो अरुण से एक साल सीनियर थी) को गुलाब का फूल देगा. वह जीता तो उसे एक हजार रूपए ईनाम मिलेंगे तथा एक महीने तक वे सभी उसको सलाम भी  मारेंगे. अगर वह हारता है तो उसे सज़ा दी जाएगी. अरुण ने इस शर्त को चुनौती समझकर स्वीकार कर लिया. 
     वेलेंटाइन दिवस आया और और अरुण शर्त के अनुसार उस लड़की के पास गया और गुलाब का फूल उसे भेंट में दे डाला. अरुण ने जब उस लड़की को गुलाब का फूल भेंट किया तो उसने अरुण की भेंट को मुस्कुराते हुए स्वीकार कर लिया और बड़े ही प्यार से उसके गाल पर हाथ फिराया. उन दोनों के बीच शाम को पार्क में मिलने के लिए गुप्त समझौता भी हो गया. अरुण का साहस और किस्मत देखकर सभी सीनियर्स हैरान थे तथा उनके मन में उसके प्रति ईर्ष्या के भाव भी उपज रहे थे.
                शाम को जब अरुण और वह लड़की पार्क में मिले तो अरुण ने उस लड़की के पैर छूते हुए कहा, "दीदी आशीर्वाद दें. आपका छोटा भाई अपने जीवन की पहली कमाई आपको अर्पण करने आया है." उस लड़की ने अरुण के सिर पर हाथ रखकर आशीष दिया और उसे अपने गले से लगा लिया.

***चित्र गूगल से साभार***

22 टिप्पणियाँ:

sonal ने कहा…

badhiyaa :-)

NKC ने कहा…

sundar saral kahani...

रश्मि प्रभा... ने कहा…

प्यार मजाक नहीं - प्यार सम्मान भी है

Unknown ने कहा…

सरल, सहज कहानी.

मुकेश कुमार सिन्हा ने कहा…

sach me pyari si rachna...

Sushmajee ने कहा…

achchi prastuti...

Pallavi saxena ने कहा…

भावपूर्ण अभिव्यक्ति... बढ़िया पोस्ट बधाई

Dhairya Pratap Sikarwar ने कहा…

कहानी में तो twist है...बहुत सुन्दर :-)

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया!सोनल रस्तोगी जी.

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया!नवीन कुमार चौरसिया जी.

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया! रश्मि आंटी जी.

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया! shi जी.

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया! मुकेश कुमार सिन्हा जी.

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया! सुषमा जी.

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया! पल्लवी जी.

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया! धैर्य जी.

pandey dc ने कहा…

धन्यवाद कहानी बहुत अछि है ......

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया! पाण्डेय जी.

Unknown ने कहा…

सार्थक लघु कथा.

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया!राजेन्द्र कलकल जी.

freeroid ने कहा…

bahut hi badiya tha.. :)
Par mere man me sankoch tha ki kanhi kahaani galat disha me tho nahi ja rahi...
par aant achcha tha.. :)

संगीता तोमर Sangeeta Tomar ने कहा…

शुक्रिया!Domain names जी.

एक टिप्पणी भेजें

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
Blogger द्वारा संचालित.